#50 मोबाइल रेट
Mobile_call_rates

#50 मोबाइल रेट

Spread the love

मिस काल का दौर,
एक बार फिर से आएगा,
मोबाइल बजेगा और,
फिर चुप हो जाएगा,
ताक कर फिर बैठेंगे रिसीब बटन,
मिस काल खाने वाले,
और बोलेंगे देखता हूँ,
“किसमें है दम जो मिसकाल लगाएगा ।”

काल रेट अब हुई मंहगी,
जेब पर आफत भारी होगी,
कई मोबाइल रखना अब,
जैसे बुलेट की सवारी होगी,
दो दो सिम वाले दो फोन का,
दौर अब हुआ पुराना,
वही सिंगल सिम सिंगल मोबाइल का,
पुराना दौर फिर आएगा ।

jk namdeo

मैं समझ से परे। एकान्त वासी, अनुरागी, ऐकाकी जीवन, जिज्ञासी, मैं समझ से परे। दूजों संग संकोची, पर विश्वासी, कटु वचन संग, मृदुभाषी, मैं समझ से परे। भोगी विलासी, इक सन्यासी, परहित की रखता, इक मंसा सी मैं समझ से परे।

Leave a Reply