#2-मन अशांत पक्षी का कलरव।
मन अशान्त पक्षी का कलरव

#2-मन अशांत पक्षी का कलरव।

मन अशांत पक्षी का कलरव। पतझड़ फैला फूला शेमल, हलचल फैली फुदक गिलहरी, कोयल कूके गीत सुहाना, देख अचंभित प्रकृति का रव , मन अशांत पक्षी का कलरव। फूल सुशोभित…

0 Comments